डीसीपी फुल फॉर्म हिंदी में | DCP Ka Full Form In Hindi

डीसीपी फुल फॉर्म हिंदी में क्या है: क्या आप जानते हैं डीसीपी का फुल फॉर्म हिंदी एवं इंग्लिश में क्या होता है। शायद नहीं इसलिए आप DCP का मतलब जानने के लिए हमारे इस लेख में आए हैं।

शायद आप जानते होंगे डीसीपी एक पुलिस अधिकारी का उपाध्याय है। इसलिए उसी क्षेत्र में डीसीपी का फुल फॉर्म है पुलिस उपायुक्त एवं अंग्रेजी में डीसीपी को बोला जाता है Deputy Commissioner Of Police। तो दोस्तों जैसे कि आप देख पा रहे हैं अभी हम लोग डीसीपी का पूरा फुल फॉर्म क्या है यह आपको बता दिए हैं।

लेकिन अगर आप यह पुलिस अध्यक्ष डीसीपी पद के बारे में और भी बहुत कुछ विस्तारित जानकारी चाहते हैं तो आप जरूर हमारे इस लेख को अंत तक पढ़े। क्योंकि आज हम इस लेख में डीसीबी के बारे में सब कुछ विस्तारित आलोचना करने वाले हैं एवं हम यह भी बताएंगे कि आप कैसे डीसीपी (DCP) बन सकते हैं।

डीसीपी फुल फॉर्म हिंदी में | DCP Ka Full Form In Hindi

जैसे कि आप जानते हैं डीसीपी फुल फॉर्म हिंदी में है ”पुलिस उपायुक्त”। असल में डीसीपी पुलिस अधिकारी के लिए एक बहुत ही बड़ा पद है एवं यह DCP का पद आपको केवल शहर मैं ही देखा जा सकता है।

डीसीपी फुल फॉर्म हिंदी में | DCP Ka Full Form In Hindi
डीसीपी फुल फॉर्म हिंदी में | DCP Ka Full Form In Hindi

लेकिन आपने से कुछ दोस्तों के मन में यह डीसीपी का फुल फॉर्म जानने के बाद यह प्रश्न जरूर आ रहा होगा कि आप डीसीपी कैसे बन सकते हैं। तो चलिए अभी हम लोग आपको डीसीपी कैसे बन सकते हैं इसको लेकर थोड़ा आलोचना करते हैं।

DCP कैसे बन सकते हैं

किसी को अगर डीसीपी बनना है तो उसको सर्वप्रथम आईपीएस अधिकारी बनना होगा। कोई भी व्यक्ति आईपीएस अधिकारी ना होकर सीधा डीसीपी नहीं हो सकता है, जिसके लिए उसको सर्वप्रथम यूपीएससी का परीक्षा पास करके सीधे IPS अधिकारी के रूप में चुना जाएगा।

उसके बाद जब कोई व्यक्ति 4 साल आईपीएस अधिकारी के रूप में सर्विस कर लेगा तो उसको न्यूनतम 4 साल के बाद डीसीपी या फिर एसपी के रूप में पदोन्नत किया जाता है। असल में एक साधारण सर्वे के अनुसार जाना गया है कि एक आईपीएस ऑफिसर 4 से 5 साल के अंदर ही एसपी के पद में पदोन्नत हो जाता है। ठीक उसके उपरांत ही जब वह एसपी ऑफिसर प्रमोशन का परीक्षा या फिर उसका कर्म योग्यता देखने के बाद ही उसको डीसीपी (DCP) पद में पदोन्नत किया जाता है।

अभी आप यह तो जान ही चुके होंगे कि डीसीपी कैसे बन सकते हैं। साधारण भाषा में बोला जाए तो डीसीपी कोई भी एक व्यक्ति के लिए बहुत ही बड़ा पद होता है जो समाज में एक प्रतिष्ठा बान व्यक्ति के रूप में जाना जाता है।

ऊपर दिए गए सारे जानकारियों को जानने के बाद अभी हम लोग डीसीपी का अन्ना सारे फुल फॉर्म के बारे में जानेंगे।

और परे: एसडीएम का फुल फॉर्म क्या है

डीसीपी के अन्य फुल फॉर्म जो आपको जानना है

  • Division of clinical psychology
  • Dielectric core polarization
  • Disney consumer products
  • Device control protocol
  • Depot condemnation percent
  • Die cast promotions
  • Digital cinema package
  • Development control plans
  • Department of city planning
  • Data collection platforms
  • Dynamic cone penetometer
  • development contributions plan
  • deferred compensation plan
  • dental care plan
  • development of consumer protection
  • Disney Central plaza
  • dual core processor
  • dual core flat form
  • direct connect processor
  • diagnostic control program
  • diamond code protect
  • delete calls from phone book

जैसे कि आप देख पा रहे हैं आज यहां पर सारे डीसीपी फुल फॉर्म अंग्रेजी एवं हिंदी में आपके सामने प्रस्तुत किए हैं। आशा करता हूं अगर आप ऊपर दिए गए क्रम को अच्छी तरीके से परे होंगे तो आपको डीसीपी (DCP) का सारे फुल फॉर्म के बारे में पता लग गया होगा।

FAQs

डीसीपी का फुल फॉर्म क्या है हिंदी में?

डीसीपी फुल फॉर्म होता है पुलिस उपायुक्त एवं अंग्रेजी में इसको कहा जाता है “डेप्युटी कमिश्नर ऑफ पुलिस“।

डीसीपी की सैलरी कितनी होती है?

DCP का सैलरी 40,000 से 1,00,000 तक का होता है।

डीसीपी कौन बन सकता है?

आपको डीसीपी बनने के लिए सर्वप्रथम आईपीएस ऑफिसर होना पड़ेगा जो आप यूपीएससी का परीक्षा देकर ही बन सकते हैं।

निष्कर्ष

जैसे कि आप देख पा रहे हैं आज हम इस लेख में डीसीपी फुल फॉर्म हिंदी में क्या है एवं आप कैसे एक डीसीपी पद को प्राप्त कर सकते हैं इसके बारे में विस्तारित आलोचना किए हैं। हम जानते हैं आप में से बहुत सारे लोग डीसीपी का फुल फॉर्म (DCP Ka Full Form) जानने के बाद भी इसके बारे में और भी बहुत कुछ जानता चाहते होंगे। इसलिए हम अनुरोध करते हैं अगर आपके मन में इस को लेकर और भी कुछ प्रश्न है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर अपना प्रश्न पूछे एवं आपके दोस्तों के साथ भी इस लेख को शेयर करें।

by Suman Sahu
Suman Sahu is an experienced blogger, Entrepreneur since 2015. He is 28 years old and has done his graduation from NIT Agartala. After that, he chooses his life in blogging and also he has 3 websites. He is working in many places as a freelancer. Like our other author, he is also a good-hearted person. He always tries his best to solve other issues. SO, If you have any issue regarding our GovtsYoajana website, you can contact him.

Leave a Comment