Monkeypox Kya Hai | मंकीपॉक्स क्या है

क्या आप जानते हैं कुछ समय पहले से यूएस में करुणा का प्रकोप के साथ-साथ मंकीपॉक्स वायरस का भी एक नया बीमारी देखा गया है। इसलिए हर कोई मंकीपॉक्स क्या है एवं कैसे यह Monkeypox Virus फैलता है यह जानने के लिए बहुत ही उत्सुक हैं।

हालांकि कुछ समय से जब करुणा का प्रकोप देखा गया है ठीक उसके उपरांत अगर कोई भी नया वायरस का बीमारी आता है तो उसको लेकर हर कोई बहुत चिंतित रहता है। ठीक उसी तरह आजकल हर एक व्यक्ति Monkeypox Kya Hai, इसके बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं। चलिए आज हम इस लेख में आपके लिए मंकीपॉक्स वायरस के बारे में आलोचना करते हैं जिससे आप इस Monkeypox Virus के बारे में बहुत कुछ जान पाएंगे एवं यह बीमारी कैसे होते हैं एवं इसका इलाज क्या-क्या है यह भी जान पाएंगे।

मंकीपॉक्स क्या है

दोस्तों आप में से बहुत सारे लोग यह Monkeypox Virus के नाम सुनने के बाद यह सोच रहे होंगे कि यह बीमारी जरूर कोई बंदर के शरीर से आया है। असल में डब्ल्यूएचओ के मुताबिक यह मंकीपॉक्स बीमारी बंदर के शरीर से नहीं आया हुआ है। असल में यह बीमारी पहली बार एक अमेरिका के व्यक्ति के शरीर में पाया गया था जो ठीक उससे पहले ही नाइजीरिया से अपने देश में आया हुआ था।

Monkeypox एक बहुत ही रेयर कैटिगरी का बीमारी है जो इंफेक्शन अल वायरस के तौर पर डब्ल्यूएचओ ने स्वीकृति दिया हुआ है। यह मंकीपॉक्स वायरस कोरोनावायरस के जैसा इतना जल्दी नहीं फैलता है लेकिन फिर भी डब्ल्यूएचओ के मुताबिक यह भाई रस एक दूसरे को पर्स करने या फिर छींकने से भी फैल सकता है।

मंकीपॉक्स क्या है ( Monkeypox Virus Kya Hai )
मंकीपॉक्स क्या है ( Monkeypox Virus Kya Hai )

मंकीपॉक्स एक ऐसा बीमारी है जो होने पर मरीज के पूरे शरीर में बटन जैसा छोटे-छटे चिन्ना आ जाते हैं एवं अगर किसी को यह बीमारी का प्रकोप बहुत ज्यादा हो जाता है तब उसके शरीर के आंख में जो रेटीना है उसके अंदर भी यह बटन जैसा चिन्ह हो सकता है।

अभी तक डब्ल्यूएचओ के न्यूज के मुताबिक यह मंकीपॉक्स भाई रस यूएस में ही सीमित है वह भी कुछ लोगों के अंदर। तो अगर आप भारत में रह के इस वायरस का नाम सुने हैं तो आप के लिए बता दें कि अभी तक यह बीमारी भारत में नहीं आया हुआ है। लेकिन फिर भी अगर हम लोग करो ना बीमारी के जैसा ही कहीं पर जाने के समय मुंह में मास्क पहन कर जाते हैं तब यह बीमारी को फैलने से हम लोग रोक सकते हैं।

और जाने डेल्टा क्रोम क्या है

Monkeypox बीमारी का लक्षण

अगर आप Monkeypox बीमारी का लक्षण के बारे में जानना चाहते हैं तो इस बीमारी का सर्वप्रथम लक्षण है बुखार। इसके अलावा अगर कोई भी व्यक्ति के शरीर में यह मांग की बॉक्स नामक वायरस घुसता है तो 6 से 13 दिन के अंदर ही इसके शरीर में इस वायरस का लक्षण दिख जाएगा। यह बीमारी होने के बाद आपके शरीर में बुखार के साथ-साथ आपको बहुत ज्यादा वीकनेस भी फील होगा और आपका सिर भी घूमने लगेगा।

अगर आप के शरीर में ऐसा कोई लक्षण है एवं आप 1 से 2 हफ्ते के अंदर कोई भी नया लोगों के साथ बहुत मिलजुल किया हुआ है तो आपको जरूर एक अच्छे डॉक्टर के साथ बात करना चाहिए। तो अभी तक आप हमारे इस लेख को पढ़ के मंकीपॉक्स क्या है एवं इस बीमारी का लक्षण क्या क्या है यह जान चुके होंगे। अभी हम आपके साथ यह मांग की बॉक्स बीमारी के इलाज के बारे में थोड़ा आलोचना करेंगे।

मंकीपॉक्स बीमारी का इलाज क्या है

2022 के डब्ल्यूएचओ के लेटेस्ट न्यूज़ के अनुसार अभी तक यह Monkeypox वायरस नामक बीमारी का इलाज नहीं निकल पाया है। डब्ल्यूएचओ के द्वारा यह जरूर बोला गया है कि हम लोग कोरोना वायरस के जैसा ही यह Monkeypox वायरस को भी रोक सकते हैं जिसके लिए हम सबको बाहर कहीं पर भी जाने से पहले मास्क पहनना होगा।

FAQs

मंकीपॉक्स क्या है?

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार यह Monkeypox भाईरास एक इंफेकन टाइप बीमारी है जो होने पर मरीज के शरीर में बटन जैसा छोटा-छोटा चिन्ना पर जाता है।

मंकीपॉक्स का इलाज क्या है?

ब्लू एच ओ के अनुसार अभी तक Monkeypox का कोई भी इलाज नहीं है।

निष्कर्ष

जैसे कि आप देख पाए हैं आज हम इस लेख में मंकीपॉक्स क्या है एवं मंकीपॉक्स होने का लक्षण को विस्तार से आलोचना किए हुए हैं। इसके उपरांत भी अगर आपके मन में Monkeypox वायरस को लेकर कुछ भी प्रश्न है तो आप नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में अपना प्रश्न जरूर पूछें।

by Suman Sahu
सुमन साहू जिसका उम्र 30 साल है, एक अनुभवी ब्लॉगर के साथ-साथ एक अनुभव भी उद्योग भी है। सुमन जी अपना ग्रेजुएशन न.आइ.टि अगरतला से एक इंजीनियर के डिग्री लेकर किया है। उसके बाद उन्होंने अपने जीवन को पूरी तरीके से एक ब्लॉगर के तौर पर मानते हुए यह GovtsYojana.in वेबसाइट में काम करने के साथ-साथ और भी तीन वेबसाइट में काम करता है। इसके साथ-साथ सुमन साहू जी एक फ्रीलांसर भी है जो फाइबर एवं आप क जैसे प्लेटफार्म में काम भी करता है। सुमन जी हमेशा से ही एक अच्छे दिल के इंसान है जो हर वक्त दूसरे के समस्याओं को अपना समस्या मांगते हुए समाधान करने का प्रयास करते हैं। इस चीज को लेकर ही वह यह गवर्नमेंट योजना वाले वेबसाइट में हर तरीके का लेख लेकर लोगों को उसके समस्या के समाधान को लेकर आलोचना करते हैं।

Leave a Comment